क्या है CAA और NRC ? - WHAT IS CAA & NRC ?

नमस्कार दोस्तों, आपने CAA और NRC इन शब्दों के बारे में तो सुना ही होगा, जिनकी  वजह से आजकल पुरे देश में बवाल मचा हुआ है।  अगर आपको नहीं पता है तो चलिए जानते है -  क्या है CAA और NRC ?



क्या है CAA ?
Citizenship Amendment Act यानी नागरिकता संशोधन कानून। इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश से प्रताड़ित होकर आये हुए हिंदू , सिख, ईसाई, पारसी, जैन और बुद्ध धर्मावलंबियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी। इसका विरोध करने वाले इसे गैर-संविधानिक बता रहे है, जबकि सरकार का कहना है की इसका एक भी प्रावधान संविधान के किसी भी हिस्से की किसी भी तरह से अवहेलना नहीं करता है। वही, इस कानून के जरिए धर्म के आधार पर भेदभाव के आरोपों पर सरकार का कहना है की इसका किसी भी धर्म के भारतीय नागरिकों से कोई लेना-देना नहीं है। 

CAA को लेकर क्यों प्रदर्शन हो रहे है ?
नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दो तरह के प्रदर्शन हो रहे है। पहला प्रदर्शन नॉर्थ ईस्ट में इस बात को लेकर हो रहा है की इस कानून को लागु करने से आसाम में बाहर के लोग आकर बसेंगे जिससे उनकी संस्कृति को खतरा है। वही नॉर्थ ईस्ट को छोड़ बाकि जगह पे इस बात को लेकर प्रदर्शन हो रहा है की यह गैर-संविधानिक है। प्रदर्शनकारियों के बिच अफवाह फैली है की इस कानून से उनकी भारतीय नागरिकता छिन सकती है। 

क्या CAA का भारत के मुसलमानों पर फरक पड़ेगा ?
गृह मंत्रालय यह पहले ही साफ कर चूका है की CAA का भारत के किसी भी धर्म के किसी नागरिक से कोई लेना देना नहीं है। इसमें उन गैर मुस्लिम लोगों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान है जो पाकिस्तान, बांग्लादेश या अफगानिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना का शिकार होकर भारत में शरण ले रखी है। कानून के मुताबिक, ३१ दिसंबर २०१४ तक भारत आ गए इन तीन देशों के प्रताड़ित धार्मिक अल्पसंख्यंकों को नागरिकता दी जाएगी। 

NRC क्या है ?
National Register of Citizen यानि नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन बिल। इस बिल का मकसद भारत में अवैध रूप से बसे घुसपैठियों को बाहर निकलना है। NRC की शुरुआत २०१३ में सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में आसाम में हुई थी। फ़िलहाल  यह आसाम के आलावा किसी अन्य राज्य में लागु नहीं है। 

NRC में शामिल होने के लिए क्या जरुरी है ?
NRC के तहत भारत का नागरिक साबित करने के लिए किसी व्यक्ति को यह साबित करना होगा की उसके पूर्वज २४ मार्च १९७१ से पहले भारत आ गए थे। अवैध बांग्लादेशियो को निकालने के लिए इसे पहले आसाम में लागु किया गया है। अगले संसद सत्र में इसे पुरे देश में लागु करने का बिल लाया जा सकता है। 

NRC के लिए किन दस्तावेजों की जरुरत है ?
भारत का वैध नागरिक साबित होने के लिए एक व्यक्ति के पास रेफ्यूजी रजिस्ट्रेशन, आधार कार्ड, जन्म का सर्टिफिकेट, एलआइसी पालिसी, सिटीजनशिप सर्टिफिकेट, पासपोर्ट, सरकार के द्वारा जारी किया लाइसेंस या सर्टिफिकेट में से कोई एक होना चाहिए। 

NRC  में शामिल न होने वाले लोगों का क्या होगा ?
अगर कोई व्यक्ति NRC में शामिल नहीं होता है तो उसे डिटेंशन सेंटर में लाया जायेगा। इसके बाद सरकार उन देशों से सम्पर्क करेगी जहा के वो नागरिक है। अगर सरकार द्वारा उपलब्ध कराये साक्ष्यों को दूसरे देशों की सरकार मान लेती है तो ऐसे अवैध प्रवासियों को वापस उनके देश भेज दिया जायेगा। 


Oldest